खबरें

UN Peace mission: भारत ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन’ में बढ़ाएगा महिला सैनिकों की संख्‍या, अबेई में होगी तैनाती…

0
Indian Diplomacy

UN Peace mission: भारत ने एक बार फिर ‘UN Peace mission‘ में महिला शांति सैनिकों की तैनाती बढ़ाने का फैसला लिया है। संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत की स्‍थाई प्रतिनिधि रूचिरा कंबोज ने ट्वीट कर बताया कि, भारत संवेदनशील क्षेत्र अबेई में संयुक्‍त राष्‍ट्र मिशन में देश की बटालियन के हिस्‍से के रूप में शांति सैनिकों की पूरी महिला टुकड़ी तैनात कर रहा है। यह हाल ही के वर्षों में म‍िहिला शांति सैनिकों की अकेली सबसे बड़ी तैनाती है। टीम को शुभकामनाएं। भारत लगातार ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन’ में अपने सैनिकों की संख्‍या को बढ़ाने पर जोर दे रहा है, जो कि साबित करता है कि भारत शांति के पक्ष में हमेशा आगे रहा है।

क्‍या बोलीं रूचिरा कंबोज ?

संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत की स्‍थाई प्रतिनिधि रूचिरा कंबोज ने कहा कि, अबेई में महिला शांतिरक्षकों की प्‍लाटून 6 जनवरी को 2023 को संयुक्‍त राष्‍ट्र अं‍तरिम सुरक्षा बल, अबेई (UNISFA) में इंडियन बटालियन के हिस्‍से के तौर पर तैनात की गई है। इस बयान के मुताबिक, सबसे पहले साल 2007 में लाइबेरिया में महिला शांति रक्षकों की प्‍लाटून तैनात करने के बाद ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन‘ में यह भारत की सबसे बड़ी एक महिला टीम/प्‍लाटून है। बीते साल 31 अक्‍टूबर तक भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र शांतिरक्षक मिशन में बांग्‍लादेश के बाद दूसरी सबसे बड़ी सेना भेजने वाला राष्‍ट्र है।

12 सालों में 5,5887 सैनिकों की तैनाती :

भारत 12 सालों में कुल 5,5887 सैनिक और कर्मी भेज चुका है। भारतीय मिशन ने अपने बयान में उल्‍लेख किया है कि, स्‍थानीय आबादी में महिलाओं व बच्‍चों तक पहुंचने और उनसे जुड़ने की क्षमता के लिए दुनियाभर में ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशनों’ में महिला शांति सैनिकों की भूमिका अहम है। मुख्‍यत: उन संघर्ष क्षेत्रों में जो यौन हिंसा के शिकार हैं। आपको बता दें कि, ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन’ शांति संचालन एवं संचालन सहायता विभागों के बीच एक सहयोगात्‍मक प्रयास है। जो मेजबान देशों को युध्‍द से शांति की ओर बढ़ने में मदद करता है।

क्‍या है ‘संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन’ ?

दुनिया के अलग-अलग देशों  में शांति स्‍थापित करने के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र 1948 से ही कार्यरत है। बीते 74 सालों में संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सैनिक 71 फील्‍ड मिशन में शामिल रहे हैं। वर्तमान में करीब 82,000 शांति सैनिक अलग-अलग देशों में 13 अलग-अलग शांति अभियानों के लिए काम कर रहे हैं। साल 1999 के बाद इन अभियानों में अत्‍याधिक वृध्दि हुई है। आपको बता दें कि, भारत समेंत संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ के 119 सदस्‍य देशों के सैन्‍य एवं पुलिसकर्मी इस शांति सेना का हिस्‍सा हैं। वर्त मान में कुल 82,000 सैनिकों में से 72,930 सैनिक और सैन्‍य पर्यवेक्षक हैं, शेष पुलिसकर्मी हैं।

आपको बता दें कि संयुक्‍त राष्‍ट्र ने 1948 के बाद से अब तक कई शांति अभियान चलाए हैं। इन सैन्‍य अभियानों में भारत योगदान देने वाला 5वां सबसे बड़ा देश हैं। जिसमें से सबसे अधिक सैनिक अकेले कांगों में तैनात हैं। भारत 2007 में महिलाओं महिलाओं की टुकड़ी भेजकर, ऐसा पहला देश बन गया जिसने ‘UN Peace mission’ पर सिर्फ अपनी महिला टुकड़ी भेजी हो।

 

Kusum
I am a Hindi content writer.

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *