खबरें

Terror Funding: PFI पर NIA-ED का सबसे बड़ा एक्‍शन,गृहमंत्री समेत उच्‍च अधिकारियों की बैठक संपन्‍न

0
Terror Funding

Terror Funding:  सम्‍पूर्ण देश में PFI संगठन के खिलाफ ED और NIA  चल रही  छापेमारी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा एक्‍शन लेते हुए बैठक बुलाई है। जिसमें अमित शाह के साथ  केंद्रीय ग्रह सचिव अजय भल्‍ला, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल एवं अन्‍वेषण अभिकरण के महानिदेशक दिकर गुप्‍ता समेत शीर्ष अधिकारी इस उच्‍च स्‍तरीय बैठक में शामिल हुए।

पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से जुड़े परिसरों में Terror Funding मामले में की जा रही  छापेमारी तथा आतंकवाद के संदिग्धों के खिलाफ चर्चा करने के लिए  केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने  तत्‍काल बैठक  बुलाई थी। अधिकारियों ने बताया कि, इस बैठक में शाह ने आतंकवाद के संदिग्‍धों और PFI कार्यकर्ताओं के खिलाफ देशभर में की गई कार्यवाई का जायजा किया।

Terror Funding मामले में 11 राज्‍यों से 106 लोग गिरफ्तार:

देश में आतंकवादियों की कमर तोड़ने के लिए गुरूवार को राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने तमिलनाडु एवं केरल समेत कुल 11 राज्‍यों में पॉपुलर फ्रेंट ऑफ इंडिया के ठिकानों पर छापेमारी की गई।जिसमें गुरुवार को सुबह 11 राज्यों में एक साथ छापे मारे और देश में आतंकवाद के वित्‍त पोषण में कथित तौर पर शामिल PFI के 106 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया।  इसे NIA ने ‘अब तक का सबसे बड़ा जांच अभियान’ करार दिया है।  गिरफ्तारी दो तरीके के लोगों के खिलाफ की गई है। जिसमें एक तो वो जो सीधे तौर पर PFI की गतिविधियों में लिप्‍त थे। एवं दूसरे वो जो छापेमारी सर्च के दौरान धरना प्रदर्शन कर रहे थे।

NIA और ED ने मलप्‍पुरम जिले के मंजेरी में PFI के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ओएम सलाम के अलावा PFI के दिल्‍ली हेड परवेज अहमद के घर पर छापेमारी की और उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया।  इस दौरान PFI के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इस छापेमारी में PFI के पूर्व कोषाध्‍यक्ष नदीम को भी गिरु्तार कियाा गया हे। नदीम को बाराबंकी में कुर्सी थाना क्षेत्र के बहरौली गांव से NIA ने पकड़ा था। आपको बताते चलें कि नदीम CAA और NRC हिंसा के दौरान भी सामने आया था।

राजस्‍थान में PFI का हेड ऑफिस:

NIA ने राजस्‍थान के जयपुर में मोती डूंगरी रोड पर PFI दफ्दर पर सुबह 3 बजे रेड मारी थी। जहॉं पर PFI के दो कार्यकर्ता जावेद एवं एक अन्‍य से पूछतांछ की थी। लेकिन यहॉं से किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया।  केरल से राजस्‍थान में कुछ महीने पहले हथियार  सप्‍लाई हुए थे।  ये हथियार हिंदूवादी संगठन से निपटने के लिए भेजे गए थे।  फिलहाल, राजस्‍थान में PFI संगठन बैन नहीं  है।  जयपुर में PFI का हेड ऑफिस मौजूद है।  इसके अलावा कोटा में भी इसका एक बड़ा दफ्तर है।

एनआईए के अधिकारियों की चार टीमों ने उप्र के  लखनऊ, नोएडा, वाराणसी में छापेमारी की।   महाराष्‍ट्र के पुणे में भी इसी टीम द्वारा 20 जगहों पर छापेमारी की गई। तथा इसी टीम द्वारा ही असम से पीएफआई के 9 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन और इंदौर के पीएफआई के ठिकानों पर भी छापा मारा गया।

निष्‍कर्ष 

NIA  ने 11 राज्‍यों में PFI के अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर 106 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें से दिल्ली-3, कर्नाटक-20, केरल-22, महाराष्ट्र-20,  पुडुचेरी-3, तमिलनाडू-10, आंध्रप्रदेश -5, राजस्‍थान-2, उप्र-8 एवं असम से 9 लोगों को गिरफ्तार   किया गया है।

 

 

Kusum
I am a Hindi content writer.

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.