Uncategorized

Privacy policy: सुप्रीम कोर्ट से WhatsApp और Facebook को बड़ा झटका, जारी रहेगी CCI जांच

0
Privacy policy

Privacy policy: सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सोशल मीडिया कंपनी  WhatsApp और Facebook को उनकी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर बड़ा झटका दिया है। मेटा के स्‍वामित्‍व वाली WhatsApp और Facebook कंपनियों की Privacy policy को लेकर SC ने आदेश जारी किया है कि इन पर CCI जांच जारी रहेगी। दरअसल, दोनों कंपनियों द्वारा प्राइवेसी पॉलिसी की वैधता को लेकर SC में पेंडि़ग सुनवाई का हवाला देते हुए भारतीय प्रतिस्‍पर्धा आयोग (CCI) द्वारा जारी जांच को रोकने की मांग की थी। लेकिन SC ने दोनों कंपनियों की दलील पर कहा- CCI अपने आप में एक स्‍वतंत्र संस्‍था है, अगर वो प्रतिस्‍पर्धा एक्‍ट उल्‍लंघन को लेकर जांच कर रहा है तो इसे रोका नहीं जा सकता।

क्‍या है मामला ?

दरअसरल, छात्रों द्वारा WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ सर्वोच्‍चतम न्‍यायालय में याचिका दायर की गई थी। छात्रों का कहना था कि यूजर्स द्वारा शेयर किए गए, कॉल, वीडियो, टेक्‍स्‍ट, फोटो एवं डॉक्‍यूमेंट को किसी अन्‍य कंपनी के साथ शेयर करना उनकी गोपनीयता एवं फ्री स्‍पीच का उल्‍लंघन है।

पिछले वर्ष CCI ने दिए थे जांच के आदेश :

छात्रों द्वारा याचिका दायर करने के बाद, इन दोनों कंपनियों ने भारतीय प्रतिस्‍पर्धा आयोग की जांच का विरोध करते हुए दिल्‍ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। दिल्‍ली हाईकोर्ट की डबल बेंच ने इन कंपनियों की CCI जांच के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया था। दिल्‍ली हाईकोर्ट द्वारा याचिका को खारिज करने के बाद इन्‍होंने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। आपको बता दें कि पिछले साल की शुरूआत में ही CCI ने दोनों कंपनियों की नई प्राइवेसी पॉलिसी के जांच के आदेश दिए थे।

क्‍या है व्‍हाट्सएप की New Privacy policy ?

साल 2021 में व्‍हाट्सएप ने नई प्राइवेसी पॉलिसी जारी की थी, यह पॉलिसी उसकी पैरेंट कंपनी फेसबुक को ध्‍यान में रखकर बनाया गया था। इस नई प्राइवेसी पॉलिसी के तहत व्‍हाट्सएप का डाटा फेसबुक, इंस्‍टाग्राम और अन्‍य पार्टनर कंपनियों के साथ साझा किया जा सकता था। नई पॉलिसी के अनुसार व्‍हाट्सएप पेमेंट का डाटा भी पैरेंट कंपनियों के साथ साझा किया जा सकता था। अर्थात् इसमें पेमेंट से लेकर ट्रांजेक्‍शन तक की जानकारी होगी।

भारत में करीब 50 करोड़ व्‍हाट्सएप यूजर्स :

जारी स्‍टाटिका रिपोर्ट के आंकड़ो के मुताबिक, दुनियाभर में लभगभ 2,44,00,00,000 यूजर्स हैं। जिनमें से करीब 50 करोड़ उपयोगकर्ता सिर्फ भारत में हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में करीब 95 प्रतिशत व्‍हाट्सएप यूजर्स को रोजाना स्‍पैम मैसेज आते हैं। इनमें से कई यूजर्स को प्रतिदिन 1 से 8 या उससे भी अधिक स्‍पैम मैसेज आते है। इससे आप समझ सकते हैं कि भारत में व्‍हाट्सएप स्‍पैम मैसेज को सर्कुलेट करने का सबसे बड़ा जरिया बना है। इसकी सबसे बड़ी वजह है कि भारत में इसके करीब 50 करोड़ यूजर्स हैं।

 

 

Kusum
I am a Hindi content writer.

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *